विश्वसनीयता / Reliability

पत्तों और फूलों का क्या भरोसा!वे आज हैं कल नहीं,रिश्ते तो निभाती है जड़,ऊपर से नीचे तक,वृक्ष के हर हिस्से … More