आंसू यादों के / Tears of Memories

मिर्ज़ा गालिब ने फरमाया था: “समंदर कर दिया नाम उसकानाहक सबने कह कह करहुए थे जमा कुछ आंसू,मेरी आँखों से … More

एक कठिन कार्य / A Difficult Task

काश वह मेरी होती या मैं उसकाजब भी मैं उसे देखतायही खयाल आतापर कह नहीं पातादिल धड़कता था मासूमियत सेपर … More