चक्र / Cycle

चक्र रातें बढ़ती हैं तो दिन घटता हैकुछ छूटता है तो कुछ जुड़ता है… कभी कुछ भी समाप्त होता नहीपरिवर्तन … More

बैसाखी / Crutches

प्रभु को प्रसन्नकरने के चक्कर मेंमैं अप्रसन्न कर आयापावन पुष्पों कोजिनकी वेदना की चीखगूंजती है मेरे कानों मेंक्या तुम्हारी प्रार्थना … More